पुजारी एवं मंदिर भूमि

शासन संधारित मंदिरों तथा उनसे लगी भूमि के भूमि स्वामी जो स्वयं मूर्ति है, में कलेक्टर का नाम प्रबंधक के रूप में दर्ज कराया गया है। ऐसे मंदिरों में कार्यरत पुजारियों तथा मंदिरों की भूमि का विवरण इस प्रकार है :-

  • मंदिरों की संख्या - 12092
    • (क) पांच एकड़ तक भूमि वाले मंदिर-4396
    • (ख) पांच एकड़ से अधिक भूमि वाले मंदिर -2469
  • राज्य शासन द्वारा शासन संधारित मंदिरों के पुजारियों को दिनांक 1.4.2003 से निम्नलिखित शर्तो के अनुसार मानदेय का भुगतान किया जा रहा है :-
img
 
  • जिनके पास भूमि नहीं है, उन्हें रु. 500- (रूपये पांच सौ) प्रति माह की दर से मानदेय का भुगतान किया जावे।
  • जिनके पास 5 एकड़ तक भूमि है, उन्हें रू. 350 (रूपये तीन सौ पचास) प्रति माह की दर से भुगतान किया जाये। यदि वर्तमान में यह राशि रू. 350- से अधिक है तो मिलती रहेगी।
  • जिनके पास 5 एकड़ से अधिक एवं 10 एकड़ तक भूमि है, उन्हें रू. 260- (रूपये दो सौ साठ ) प्रति माह की दर से भुगतान किया जाय। यदि वर्तमान में उन्हें रूपये 260- (रूपये दो सौ साठ ) से अधिक राशि मिल रही है तो वह मिलती रहेगी।
  • जिनके पास 10 एकड़ से अधिक भूमि है, उन मंदिरों के पुजारियों को अलग से शासन द्वारा कोर्इ मानदेय नहीं दिया जावेगा।